पोस्ट विवरण
User Profile

3G कटिंग के द्वारा बढ़ाएं लौकी की पैदावार

सुने

3G कटिंग के द्वारा एक ही पौधे से अधिक फल प्राप्त करने के लिए मुख्य तने एवं शाखाओं की कटाई की जाती है। इस विधि का प्रयोग लौकी के अलावा कद्दू, तोरई, करेला, खीरा, तरबूज, भिंडी, बैंगन, मिर्च, आदि पौधों में भी किया जाता है। इस तकनीक की मदद से लौकी के एक पौधे से 100 से भी अधिक फल प्राप्त किए जा सकते हैं। अगर आपको 3G कटिंग तकनीक की जानकारी नहीं है तो इस पोस्ट को ध्यान से पढ़ें। यहां से आप लौकी की पैदावार में वृद्धि के लिए 3G कटिंग तकनीक की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। आइए 3G कटिंग पर विस्तार से जानकारी प्राप्त करें।

3G कटिंग का उपयुक्त समय

  • बीज की रोपाई के बाद पौधों में 10 से 12 पत्तियां आने पर 3G कटिंग की जा सकती है।

  • मुख्य तने की लंबाई करीब 60 सेंटीमीटर होने पर पौधों में 3G कटिंग कर सकते हैं।

3G कटिंग का सही तरीका

  • 3G कटिंग के लिए कम से कम 20 से 30 दिन पुराने पौधे का चयन करें।

  • जड़ से निकलने वाले मुख्य तने में भूमि की सतह से लेकर 7-8 पत्तियों के बीच यदि छोटी शाखाएं निकल रही हैं तो उन्हें काट कर अलग करें।

  • मुख्य तने में 10 से 12 पत्तियां आने के बाद तने के ऊपरी भाग को काट कर अलग करें। ऐसा करने से पौधे की लम्बाई रुकेगी और पौधों में नई शाखाएं आएंगी।

  • मुख्य तने के ऊपरी भाग की कटाई के बाद निकलने वाली शाखाओं की भी कटाई की जाती है।

  • मुख्य तने के ऊपरी भाग से निकलने वाली दो शाखाओं के अलावा अन्य सभी छोटी शाखाओं को काट कर अलग करें।

  • कुछ दिनों बाद मुख्य तने से निकलने वाली दोनों शाखाओं में भी कई शाखाएं निकलेंगी। इनमें कुछ शाखाओं को छोड़कर अन्य सभी शाखाओं को काट कर अलग करें।

यह भी पढ़ें :

हमें उम्मीद है यह जानकारी आपके लिए महत्वपूर्ण साबित होगी। यदि आपको यह जानकारी पसंद आई है तो इस पोस्ट को लाइक करें एवं इसे अन्य किसान मित्रों के साथ साझा भी करें। जिससे अन्य किसान मित्र भी इस जानकारी का लाभ उठाते हुए 3G कटिंग के द्वारा लौकी की पैदावार में बढ़ोतरी कर सकें। इससे जुड़े अपने सवाल हमसे कमेंट के माध्यम से पूछें।

SomnathGharami

Dehaat Expert

25 लाइक्स

1 टिप्पणी

24 June 2021

शेयर करें
banner
फसल चिकित्सक से मुफ़्त सलाह पाएँ

फसल चिकित्सक से मुफ़्त सलाह पाएँ