पोस्ट विवरण
User Profile

गेहूँ:एफीड/ लाही कीट

सुने

लाही गेहूँ के फूलों एवं कोमल बालियों के रस को चूसती है, जिससे फूलों और बालियों के नुकसान के साथ पौध का विकास रुक जाता है।  ऐसे कीटों को नियंत्रित करने के लिए,  इनमें से कोई एक कीटनाशक जैसे 12-15  मिली विक्टर या टाटामिडा और 10 ग्रा. माणिक या 5 मिली हॉक और 5 ग्रा. ग्रीनतारा को 15  लीटर पानी में घोलकर 8-10 दिनों के अन्तराल पर कम-से-कम तीन बार छिडकाव करायें. किसान भाइयों!  गेहूँ के खेतों में प्रति एकड़ 5-6 येलो स्टिकी ट्रैप लगाकर भी फसल को लाही के प्रकोप से बचाया जा सकता है.

Somnath Gharami

Dehaat Expert

9 लाइक्स

2 September 2020

शेयर करें
banner
फसल चिकित्सक से मुफ़्त सलाह पाएँ

फसल चिकित्सक से मुफ़्त सलाह पाएँ