पोस्ट विवरण
User Profile

जाने पशुओं के आधार कार्ड का महत्व

सुने

इंसानों की तरह अब पशुओं के लिए भी एक यूनिक आइडेंटिफिकेशन नंबर जारी किया जा रहा है, जिसे पशु आधार कार्ड का नाम दिया गया है। देखने में यह एक पीले रंग का टैग है जिनमे एक अद्वितीय नंबर दर्ज होता है। पशु आधार कार्ड पशुओं के वैज्ञानिक प्रजनन, रोगों के फैलाव को रोकने, दुग्ध उत्पादों के व्यापार को बढ़ावा देने के लिए जारी किया जा रहा है। यदि आप पशु पालन करते हैं तो पशु आधार कार्ड की जानकारी होना आवश्यक है। आइए जानते हैं आखिर क्यों पशु आधार जरूरी हैं, यह कैसे मिलता है और क्या - क्या इसके फायदे हैं?

पशुओं के लिए आधार कार्ड कैसे मिलता है?

  • एक फॉर्म में पशु की सभी जानकारी जैसे नस्ल, उम्र, गर्भ धारण, टीका करण, पशु के मालिक का नाम एवं मोबाईल नंबर, आदि भरा जाता है।

  • फॉर्म में सभी जानकारियों को भरने के बाद इन जानकारियों को कंप्यूटर पर अपलोड किया जाता है।

  • पशु आधार कार्ड देते समय उनके कान में छेद कर प्लास्टिक का एक ईयर टैग लगाया जाता है और फिर उस पशु का फोटो लिया जाता है।

पशु आधार कार्ड के लाभ

  • पशुओं की आयु की जानकारी मिलेगी।

  • पशुओं की नस्ल, दूध उत्पादन, कृत्रिम गर्भाधान की जानकारी मिलेगी।

  • पशुओं की बीमारी की जानकारी प्राप्त होगी।

  • पशुओं के टीका करण में होने वाली गलती को रोक सकेंगे।

  • पशुओं की खरीद-बिक्री एवं गणना करने में आसानी होगी।

  • दुधारू पशुओं के संरक्षण एवं पशुपालकों की जानकारी भी आसानी से प्राप्त की जा सकती है।

यह भी पढ़ें :

पशुओं को खुरपका रोग से बचाने के तरीके यहां से देखें।

हमें उम्मीद है यह जानकारी आपके लिए महत्वपूर्ण साबित होगी। यदि आपको यह जानकारी पसंद आई है तो यह पोस्ट लाइक करें एवं इसे अन्य किसानों के साथ साझा भी करें। जिससे अन्य किसानों को भी यह जानकारी मिल सके। पशु आधार कार्ड से जुड़े अपने सवाल हमसे कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं। पशु पालन एवं कृषि संबंधी अधिक जानकारियों के लिए देहात हेल्पलाइन नंबर 1800 1036 110 पर सम्पर्क करें।

Soumya Priyam

Dehaat Expert

40 लाइक्स

5 टिप्पणियाँ

2 March 2021

शेयर करें
banner
फसल चिकित्सक से मुफ़्त सलाह पाएँ

फसल चिकित्सक से मुफ़्त सलाह पाएँ