पोस्ट विवरण
User Profile

कद्दू वर्गीय सब्जियों की खेती के लिए खेत की तैयारी

सुने

कद्दू वर्गीय सब्जियों में कद्दू, लौकी, तुरई, तरबूज, खरबूजा, खीरा, ककड़ी, पेठा, करेला, आदि शामिल हैं। मैदानी क्षेत्रों में सामान्यतः इन सब्जियों की खेती फरवरी से मई महीने में की जाती है। यदि आप भी इस मौसम कद्दू वर्गीय सब्जियों की खेती करना चाहते हैं तो खेत तैयार करने की विधि यहां से देखें।

  • खेत तैयार करते समय सबसे खेत की 1 बार गहरी जुताई करें।

  • इसके बाद 2 से 3 बाद हल्की जुताई करें।

  • जुताई के बाद पाटा लगाएं। इससे खेत की मिट्टी को भुरभुरी एवं समतल हो जाएगी।

  • आमतौर पर कद्दू वर्गीय सब्जियों में प्रति एकड़ खेत में 26 किलोग्राम नाइट्रोजन, 22 किलोग्राम फास्फोरस एवं 16 किलोग्राम पोटाश की आवश्यकता होती है।

  • खेत तैयार करते समय नाइट्रोजन की आधी मात्रा के साथ पोटाश और फास्फोरस की पूरी मात्रा मिलाएं।

  • बचे हुए नाइट्रोजन को 2 भागों में बांट कर खड़ी फसल में छिड़काव करें।

  • नर्सरी में तैयार किए गए पौधों के लिए खेत में क्यारियां तैयार करें। सभी क्यारियों के बीच 2.5 से 3 मीटर की दूरी रखें।

  • सभी क्यारियों पर विभिन्न फसलों की आवश्यकता के अनुसार दूरी तय करते हुई रोपाई करें।

  • पौधों की रोपाई शाम के समय करें। रोपाई के बाद हल्की सिंचाई करें।

यह भी पढ़ें :

  • कद्दू वर्गीय फसलों में स्पाइडर माइट को नियंत्रित करने के तरीके जानने के लिए यहां क्लिक करें।

हमें उम्मीद इस पोस्ट में बताए गए तरीके से खेत तैयार कर के आप कद्दू वर्गीय सब्जियों की अच्छी पैदावार प्राप्त कर सकेंगे। यदि आपको यह जानकारी पसंद आई है तो इस पोस्ट को लाइक करें एवं इसे अन्य किसान मित्रों के साथ साझा भी करें। जिससे अन्य किसान मित्र भी इस जानकारी का लाभ उठा सकें। इससे जुड़े अपने सवाल हमसे कमेंट के माध्यम से पूछें।

Somnath Gharami

Dehaat Expert

32 लाइक्स

5 टिप्पणियाँ

9 February 2021

शेयर करें
banner
फसल चिकित्सक से मुफ़्त सलाह पाएँ

फसल चिकित्सक से मुफ़्त सलाह पाएँ