पोस्ट विवरण
User Profile

मई माह में भूमि की देखभाल : बढ़ेगी उर्वरक क्षमता एवं पैदावार

सुने

कृषि कार्यों की दृष्टि से मई महीना बहुत महत्वपूर्ण है। यह महीना खरीफ मौसम में खेती की जाने वाली फसलों के लिए खेत तैयार करने का सबसे उपयुक्त समय है। इस समय भूमि की सही देखभाल करके हम आने वाली फसलें जैसे धान बाजरा सोयाबीन उड़द कपास तंबाकू चना मटर मूंगफली आदि की अच्छी पैदावार प्राप्त कर सकते हैं। आइए मई महीने में भूमि की देखभाल से जुड़ी जानकारियों पर विस्तार से चर्चा करें।

भूमि की देखभाल के क्या है लाभ?

इस समय भूमि की देखभाल करने से किसानों को कई फायदे होते हैं।

  • इससे मिट्टी की उर्वरा क्षमता में वृद्धि होती है।

  • फसलों की पैदावार एवं गुणवत्ता में भी बढ़ोतरी होती है।

  • रोग एवं कीटों का प्रकोप कम होता है।

कैसे करें भूमि की देखभाल?

मिट्टी की देखभाल के लिए गहरी जुताई करना एवं हरी खाद का प्रयोग करना आवश्यक है।

  • गहरी जुताई : खरीफ फसलों की खेती से पहले खेत की गहरी जुताई करना बेहद जरूरी है। इससे खेत में पहले से मौजूद खरपतवार एवं फसल के अवशेष नष्ट हो जाएंगे। इसके साथ ही गहरी जुताई से कई मृदा जनित रोगों, फफूंद जनित रोगों, एवं कीटों के प्रकोप कम होता है। गहरी जुताई के लिए मिट्टी पलटने वाली हल का प्रयोग करें। अधिक लाभ के लिए कम से कम 12 इंच गहरी जुताई करें।

  • हरी खाद का प्रयोग : हरी खाद का प्रयोग करने से मिट्टी में कई पोषक तत्वों की पूर्ति होती है। इसके प्रयोग से मिट्टी भुरभुरी होती है और मिट्टी में वायु संचार, जलधरण क्षमता एवं क्षारीयता में सुधार होता है। हरी खाद का प्रयोग करने के लिए सबसे पहले खेत में सनई, ढैंचा, मूंग, लोबिया, रिजका, मक्का, नेपियर घास, ग्वार, उड़द, आदि फसलों की खेती करनी होगी। इन फसलों की बुवाई के 40 से 60 दिनों बाद मिट्टी पलटने वाली हल के प्रयोग से फसल को मिट्टी में मिलाना चाहिए। इन फसलों को मिट्टी में करीब 15 से 20 सेंटीमीटर की गहराई में मिलाना चाहिए।

यह भी पढ़ें :

हमें उम्मीद है यह जानकारी आपके लिए महत्वपूर्ण साबित होगी। इस पोस्ट में बताई गई बातों को पर अमल कर के मिट्टी की उर्वरक क्षमता एवं फसलों की पैदावार में आसानी से वृद्धि की जा सकती है। यदि आपको यह जानकारी पसंद आई है तो इस पोस्ट को लाइक करें एवं इसे अन्य किसानों के साथ साझा भी करें। जिससे अधिक से अधिक किसान इस जानकारी का लाभ उठा सकें। इससे जुड़े अपने सवाल हमसे कमेंट के माध्यम से पूछें।

Pramod

Dehaat Expert

8 लाइक्स

1 टिप्पणी

14 May 2021

शेयर करें
banner
फसल चिकित्सक से मुफ़्त सलाह पाएँ

फसल चिकित्सक से मुफ़्त सलाह पाएँ