पोस्ट विवरण
User Profile

फसल चक्र अपनाएं, फसलों की पैदावार बढ़ाएं

सुने

कई किसान किसी एक फसल का चयन कर के लगातार कई वर्षों तक उसकी खेती में ही लगे रहते हैं। आज भी कई किसान ऐसे हैं जो केवल धान की खेती करते हैं या कुछ गेहूं की खेती करते हैं और बाकी के महीनों में उनकी खेत खाली रहती है। वहीं अगर आप विभिन्न मौसम में अलग-अलग फसलों की खेती करते हैं तो इससे आप अतिरिक्त कमाई तो कर ही सकते हैं। इसके साथ ही फसलों की पैदावार एवं गुणवत्ता भी बेहतर होती है। आइए इस पोस्ट के माध्यम से हम फसल चक्र के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त करें।

क्या है फसल चक्र?

  • एक ही खेत में विभिन्न मौसम के अनुसार अलग-अलग फसलों की खेती करने की प्रक्रिया को फसल चक्र कहते हैं।

फसल चक्र के प्रकार

  • एक वर्षीय फसल चक्र

  • दो वर्षीय फसल चक्र

  • खरीफ की फसलों में अपनाए जाने वाली फसल चक्र

  • रबी की फसलों में अपनाए जाने वाली फसल चक्र

  • जायद की फसलों में अपनाए जाने वाली फसल चक्र

फसल चक्र अपनाने के फायदे

  • कीटों एवं रोगों का प्रकोप कम होता है।

  • मिट्टी में पोषक तत्वों की मात्रा बनी रहती है।

  • भूमि की उर्वरक क्षमता बढ़ती है।

  • मृदा क्षारण में कमी आती है।

  • मिट्टी की संरचना में सुधार होता है।

  • फसलों की पैदावार में बढ़ोतरी होती है।

  • उच्च गुणवत्ता की फसल प्राप्त होती है।

  • किसान वर्ष भर अलग-अलग फसलों की खेती कर के अधिक मुनाफा प्राप्त कर सकते हैं।

हमें उम्मीद है यह जानकारी आपके लिए महत्वपूर्ण साबित होगी। यदि आपको इस पोस्ट में दी गई जानकारी पसंद आई है तो इस पोस्ट को लाइक करें एवं इसे अन्य किसानों के साथ साझा भी करें। जिससे अधिक से अधिक किसान मित्र इस जानकारी का लाभ उठा सकें। इससे जुड़े अपने सवाल हमसे कमेंट के माध्यम से पूछें। पशु पालन एवं कृषि संबंधी अन्य रोचक जानकारियों के लिए जुड़े रहें देहात से।

Pramod

Dehaat Expert

9 लाइक्स

21 January 2022

शेयर करें
banner
फसल चिकित्सक से मुफ़्त सलाह पाएँ

फसल चिकित्सक से मुफ़्त सलाह पाएँ