पोस्ट विवरण
User Profile

रबी प्याज की नर्सरी

सुने

प्याज की खेती रबी और खरीफ दोनों मौसम में की जाती है। प्याज के स्वस्थ पौधे प्राप्त करने के लिए नर्सरी की तैयारी पर विशेष ध्यान देना चाहिए। अगर सही तरीके से नर्सरी तैयार नहीं की गई तो बीज के अंकुरण में कठिनाई होगी और पौधों में कई तरह के रोग भी हो सकते हैं। रबी मौसम में प्याज की नर्सरी तैयार करने की विधि यहां से देख सकते हैं।

रबी प्याज की नर्सरी तैयार करने का समय

  • इस मौसम में नर्सरी तैयार करने का सबसे अच्छा समय अक्टूबर से नवंबर का महीना है।

  • मुख्य खेत में पौधों की रोपाई दिसंबर-जनवरी में करनी चाहिए।

  • अप्रैल से मई महीने तक प्याज की फसल तैयार हो जाती है।

नर्सरी तैयार करने की विधि

  • प्याज की नर्सरी तैयार करने के लिए उपजाऊ एवं दोमट भूमि का चयन करना बेहतर होता है।

  • नर्सरी में जल जमाव ना होने दें। जल निकासी की अच्छी व्यवस्था करें।

  • नर्सरी के लिए चयनित भूमि में 2-3 बार अच्छी तरह जुताई करें।

  • इसके बाद पाटा लगाकर मिट्टी को भुरभुरी एवं समतल बना लें।

  • प्याज के बीज की रोपाई क्यारियों में की जाती है।

  • इसलिए जमीन की सतह से 20-25 सेंटीमीटर ऊंची क्यारियां तैयार कर लें।

बीज उपचार एवं बुवाई की विधि

  • प्रति किलोग्राम बीज को 2 ग्राम थीरम या बाविस्टिन से उपचारित करें।

  • सभी क्यारियों में बीज की बुवाई करने के बाद क्यारियों पर अच्छी तरह सड़ी हुई गोबर की खाद का छिड़काव करें।

  • बीज की बुवाई 5 से 8 सेंटीमीटर की दूरी और करीब 1 सेंटीमीटर की गहराई पर करें।

  • क्यारियों को पुआल से ढक दें।

  • इससे तेज धूप, वर्षा आदि से बीज की रक्षा होती है और अंकुरण में भी आसानी होती है।

  • बीज अंकुरित होने के बाद प्रति लीटर पानी में 2 ग्राम डाइथेन एम 45 का छिड़काव करें। इससे जड़ गलन रोग एवं कई अन्य रोगों के होने का खतरा कम हो जाता है।

इस तरह नर्सरी तैयार करने से आप प्याज के रोग रहित एवं स्वस्थ पौधे प्राप्त कर सकेंगे। यदि आपको यह जानकारी महत्वपूर्ण लगी है तो इस पोस्ट को लाइक करें एवं इसे अन्य किसानों के साथ साझा भी करें। इससे जुड़े अपने सवाल हमसे कमेंट के माध्यम से पूछें।

Pramod

Dehaat Expert

67 लाइक्स

13 टिप्पणियाँ

16 October 2020

शेयर करें
banner
फसल चिकित्सक से मुफ़्त सलाह पाएँ

फसल चिकित्सक से मुफ़्त सलाह पाएँ