पोस्ट विवरण
User Profile

तेज धूप एवं गर्म हवाओं से इस तरह बचाएं फसलों को

सुने

गर्मी के मौसम में तापमान के बढ़ने से फसलों की पैदावार एवं गुणवत्ता पर प्रतिकूल असर होता है। ऐसे में तेज धूप एवं गर्म हवाओं से फसलों को बचाना बहुत जरूरी है। अगर आप भी कर रहे हैं सब्जियों की खेती तो पौधों को लू से बचाने के तरीके यहां से देखें।

  • सही समय पर सिंचाई : पौधों को गर्म हवाओं और लू से बचाने के लिए हल्की सिंचाई करें। पौधों की सिंचाई एक निर्धारित समय पर करनी चाहिए। फसलों की सिंचाई के लिए सुबह एवं शाम का समय उपयुक्त है। पौधों की सिंचाई सुबह 5 बजे से 10 बजे तक एवं शाम के 5 बजे के बाद ही करनी चाहिए।

  • ड्रिप सिंचाई : गर्मी के मौसम में पौधों को पानी की आवश्यकता अधिक होती है। उचित मात्रा में नमी नहीं मिलने से पौधे मुरझाने लगते हैं। ऐसे में ड्रिप सिंचाई पौधों को मुरझाने से बचाने का एक बेहतर विकल्प है। सिंचाई से पानी सीधा पौधों की जड़ों में पहुंचता है। साथ ही इससे पानी की बचत भी होती है।

  • मल्चिंग का प्रयोग : तेज हवाओं के चलने पर खेत की मिट्टी तेजी से सूखने लगती है और पौधों में नमी की कमी हो जाती है। इस समस्या से बचने के लिए खेत में मल्चिंग का प्रयोग करें। इससे लंबे समय तक मिट्टी में नमी बनी रहती है।

  • निराई-गुड़ाई : खेत में कुछ समय के अंतराल पर निराई-गुड़ाई करें। इससे खेत की मिट्टी भुरभुरी हो जाती है और मिट्टी में अधिक समय तक नमी बरकरार रहती है।

  • गर्म हवाओं का अवरोध : गर्म हवाओं को रोकने के लिए खेत के आस-पास मक्का, नेपियर घास, आदि फसलों की खेती करें। इससे गर्म हवाओं को कुछ हद तक रोका जा सकता है।

यह भी पढ़ें :

हमें उम्मीद है यह जानकारी आपके लिए महत्वपूर्ण साबित होगी। इस पोस्ट में बताए गए उपायों को अपनाकर आप पौधों को आसानी से गर्म हवाओं एवं लू से बचा सकते हैं। यदि आपको यह जानकारी पसंद आई है तो इस पोस्ट को लाइक करें एवं इसे अन्य किसानों के साथ साझा भी करें। जिससे अन्य किसान मित्र भी इस जानकारी का लाभ उठा सकें। इससे जुड़े अपने सवाल हमसे कमेंट के माध्यम से पूछें।

Soumya Priyam

Dehaat Expert

10 लाइक्स

1 टिप्पणी

7 May 2021

शेयर करें
banner
फसल चिकित्सक से मुफ़्त सलाह पाएँ

फसल चिकित्सक से मुफ़्त सलाह पाएँ