पोस्ट विवरण
सुने
बागवानी
अमरूद
कीट
बागवानी फसलें
11 Dec
Follow

अमरूद के बागों में फल मक्खी से बचाव के लिए उपाय

अमरूद के बागों में फल मक्खी से बचाव के लिए उपाय

अमरूद के बागों में फल मक्खियों का हमला एक बड़ी समस्या है। यह कीट फलों की गुणवत्ता एवं स्वाद को खराब कर देते हैं। अमरुद के अलावा ये कीट आम, सेब, केला, अनार, अंगूर, अमरूद, नाशपाती, अनार, संतरा, आड़ू, समेत कई अन्य फलों पर आक्रमण करती हैं। इस कीट का प्रकोप सभी मौसम में होता है लेकिन वर्षा के मौसम में प्रकोप बढ़ जाता है।

फल मक्खी कीट की कैसे करें पहचान?

  • वयस्क फल मक्खी लाल भूरे रंग की होती हैं।
  • इनके शरीर पर पारदर्शी एवं चमकदार पंख होते हैं।
  • पंखों पर पीली-सुनहरी धारियां बनी होती हैं।
  • आकार में ये घरेलु मक्खियों से थोड़े बड़े होते हैं।

फल मक्खी से अमरूद के फलों को होने वाले नुकसान

  • पके हुए फलों पर इस कीट का प्रकोप अधिक होता है।
  • फल मक्खियां फलों पर हमला करती हैं और फलों की सतह पर छेद करती हैं। फलों में छेद करने के बाद उसमें अपने अंडे डाल देती हैं।
  • जिससे फलों का गुदा खराब हो जाता है।
  • कई बार फलों का आकार भी विकृत हो जाता है।
  • प्रकोप बढ़ने पर फल सड़ने लगते हैं।

अमरूद के बागों में फल मक्खी पर कैसे करें नियंत्रण?

  • प्रभावित फलों को तोड़ कर नष्ट करें।
  • व्यस्क नर कीटों को फंसाने के लिए प्रति एकड़ बाग में 5-6 फल मक्खी ट्रैप (फेरोमोन ट्रैप) लगाएं।
  • इस कीट पर नियंत्रण के लिए फ्लुबेंडियामाइड 8.33 % + डेल्टामेथ्रिन 5.56 % w/w SC (बायर- फेनोस क्विक) की 100-125 मिलीलीटर मात्रा का प्रति एकड़ की दर से प्रयोग करें।
  • प्रति एकड़ खेत में 100 मिलीलीटर साइपरमेथ्रिन 25% इसी (धानुका- सुपरकिलर-25) का प्रयोग करें।
  • प्रति एकड़ खेत में 360 मिलीलीटर सायनट्रानिलिप्रोल 10.26% OD (FMC Benevia) का प्रयोग करें।

फल मक्खी पर नियंत्रण के लिए आप क्या करते हैं? अपने जवाब एवं अनुभव हमें कमेंट के माध्यम से बताएं। इसके साथ ही इस पोस्ट को लाइक और शेयर करना न भूलें। इस तरह की अधिक जानकारियों के लिए ' बागवानी फसलें ' चैनल को तुरंत फॉलो करें।

37 Likes
1 Comment
Like
Comment
Share
फसल चिकित्सक से मुफ़्त सलाह पाएँ

फसल चिकित्सक से मुफ़्त सलाह पाएँ