पोस्ट विवरण
सुने
किसान समाचार
26 Dec
Follow

असम के किसान ने बनाया देसी थ्रेसर, चावल को बिना तोड़े भूसी को अलग करती है ये मशीन

असम के किसान ने बनाया देसी थ्रेसर, चावल को बिना तोड़े भूसी को अलग करती है ये मशीन

असम के मोरियाबारी में रहने वाले मोहम्मद फजलुल हक की है जो एक मैकेनिक हैं। इन्होंने धान की थ्रेशर मशीन विकसित की है, उन्होंने ऐसी मशीन बनाई है जो धान की भूसी को टुकड़े-टुकड़े करके अलग नहीं करती बल्कि पूरे भूसी को ही धान के दानों को अलग कर देती है। इससे किसानों को पैसे के साथ-साथ मजदूरों और समय की बचत होती है।

59 Likes
1 Comment
Like
Comment
Share
फसल चिकित्सक से मुफ़्त सलाह पाएँ

फसल चिकित्सक से मुफ़्त सलाह पाएँ