पोस्ट विवरण
सुने
उर्वरक
फल
आम
कृषि ज्ञान
27 Feb
Follow

आम के पौधों में उर्वरक प्रबंधन

आम के पौधों में उर्वरक प्रबंधन

आम के वृक्षों में डाई अमोनियम फास्फेट (डीएपी), यूरिया और म्यूरेट आफ पोटाश (एमओपी) के साथ अच्छी तरह सड़ी हुई गोबर की खाद या कम्पोस्ट खाद का इस्तेमाल करना चाहिए। इसके अलावा जिंक, कॉपर और बोरॉन जैसे सूक्ष्म पोषक तत्वों का प्रयोग भी लाभदायक साबित होता है। उर्वरकों की मात्रा पौधों/वृक्षों की आयु पर निर्भर करती है। 1 वर्ष के प्रत्येक पौधे में प्रति वर्ष 10 किलोग्राम सड़ी हुई गोबर की खाद, 217 ग्राम यूरिया, 312 ग्राम एसएसपी, 167 ग्राम एमओपी की आवश्यकता होती है। समय के साथ वर्ष में गुणांक के अनुसार उर्वरक की मात्रा बढ़ती जाएगी। यानी 10 वर्ष के एक वृक्ष को प्रति वर्ष 2.17 किलोग्राम यूरिया, 3.12 किलोग्राम एसएसपी, 1.67 किलोग्राम एमओपी की आवश्यकता होगी। इसके साथ 250 ग्राम जिंक सल्फेट 250 ग्राम कॉपर सल्फेट और 125 ग्राम बोरेक्स का भी प्रयोग करें।

आम के पौधों में आप किन उर्वरकों का प्रयोग करते हैं? अपने जवाब हमें कमेंट के माध्यम से बताएं। इस तरह की अधिक जानकारियों के लिए 'कृषि ज्ञान' चैनल को तुरंत फॉलो करें। इसके साथ ही इस पोस्ट को लाइक और शेयर करना न भूलें।

52 Likes
1 Comment
Like
Comment
Share
फसल चिकित्सक से मुफ़्त सलाह पाएँ

फसल चिकित्सक से मुफ़्त सलाह पाएँ