पोस्ट विवरण
सुने
किसान समाचार
6 Mar
Follow

कूकर नहीं पतीले में भी गलेगी ये दाल! गांव वाला स्‍वाद, उगाने वाले किसानों की मेहनत भी कम, पैदावार होगी अधिक

कूकर नहीं पतीले में भी गलेगी ये दाल! गांव वाला स्‍वाद, उगाने वाले किसानों की मेहनत भी कम, पैदावार होगी अधिक

इंडियन एग्रीकल्‍चर रिसर्च इंस्‍टीट्यूट (आरएआरआई-पूसा) ने पूसा अरहर दाल तैयार की है। अरहर दाल विभाग के प्रभारी डा. आर राजे ने बताया कि यह ऐसी उन्‍नत किस्‍म की दाल है, जो सामान्‍य दाल के मुकाबले जल्‍दी पकेगी। इसे कम समय में भी पतीले में पकाया जा सकता है। इसका रंग गहरा पीला होता है और स्‍वाद में बहुत अच्‍छी होती है। सामान्‍य दाल की फसल को तैयार होने में 200 दिन के करीब लग जाते हैं, लेकिन यह केवल 120 में तैयार हो जाती है।

36 Likes
2 Comments
Like
Comment
Share
फसल चिकित्सक से मुफ़्त सलाह पाएँ

फसल चिकित्सक से मुफ़्त सलाह पाएँ