पोस्ट विवरण
सुने
फल
आम
बागवानी
कीट
किसान डॉक्टर
11 June
Follow

आम: फल मक्खी के प्रकोप के लक्षण, बचाव एवं नियंत्रण | Mango: Symptoms, Prevention and Control of Fruit Fly Infestation

आम भारत में सबसे प्रचलित फलों में से एक है। कुछ वर्षों से आम की बागवानी करने वाले किसान फलों में फल मक्खी के बढ़ते प्रकोप का सामना कर रहा है। फल मक्खी का वैज्ञानिक नाम बैक्ट्रोसेरा डॉर्सालिस है। यह एक प्रमुख कीट है जो आम सहित फलों और सब्जियों की एक विस्तृत श्रृंखला पर हमला करता है। फल मक्खी का प्रकोप महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और कर्नाटक राज्यों में विशेष रूप से गंभीर रहा है। जलवायु परिवर्तन, कीटनाशकों का अनुचित उपयोग और खराब स्वच्छता प्रथाओं के कारण इस कीट का प्रकोप हो सकता है। आम के पौधों में फल मक्खी से होने वाले नुकसान, फल मक्खी का जीवनकाल, इस कीट पर नियंत्रण की अधिक जानकारियों के लिए इस पोस्ट को ध्यान से पढ़ें।

फल मक्खी की पहचान एवं इसका जीवन चक्र | Identification and Life cycle of fruit fly

  • अंडा: इस कीट के अंडों की लम्बाई करीब 1 मिलीमीटर होती है।
  • लार्वा: मादा कीट के द्वारा अंडे देने के 2-3 दिनों में लार्वा बाहर आता है। लार्वा सफेद रंग का होता है और इसकी लम्बाई करीब 4-5 मिलीमीटर तक होती है। ये बहुत तेजी से बढ़ते हैं।
  • प्यूपा: इस कीट का लार्वा 10 से 12 दिनों के बाद प्यूपा में बदल जाता है। प्यूपा भूरे रंग के होते हैं और इसकी लम्बाई 5-6 मिलीमीटर तक होती है। फल मक्खी के जीवन चक्र का यह समय आमतौर पर 10 से 12 दिनों का होता है। प्यूपा की स्थिति में ये कीट मिट्टी में रहते हैं।
  • व्यस्क कीट: करीब 7-10 दिनों के बाद, वयस्क फल मक्खी प्यूपा से निकलती है। व्यस्क फल मक्खी की लम्बाई 6-8मिलीमीटर तक होती है। पूर्ण रूप से व्यस्क कीट पीले-भूरे रंग के होते हैं और इनके शरीर पर पारदर्शी पंख होते हैं। पंखों पर काले रंग के धब्बे होते हैं। इस कीट की आंखें लाल रंग की होती हैं। वयस्क फल मक्खी का जीवन काल 2 से 3 माह का होता है। इस दौरान मादा कीट कई बार अंडे दे कर अपनी संख्या में तेजी से वृद्धि करती है।
  • फल मक्खी का जीवनकाल: तापमान और आर्द्रता के आधार पर अंडे से वयस्क तक पूरे जीवन चक्र में लगभग 21-30 दिनों का समय लगता है।

आम के पौधों में फल मक्खी से होने वाले नुकसान | | Damage caused by fruit fly in mango

  • फलों को नुकसान: मादा फल मक्खियां आम के फलों की सतह पर अंडे देती हैं। इन अंडों से निकलने वाले लार्वा फल के अंदर चले जाते हैं और अंदर के गूदों को खाने लगते हैं। प्रभावित फल उपयोग के लायक नहीं रहते हैं। फलों के छिलकों पर छोटे-छोटे छेद देखे जा सकते हैं।
  • फलों में सड़न: फल मक्खियों से प्रभावित फल अंदर से सड़ने लगते हैं और फलों में से सड़ने की गंध भी आने लगती है।
  • समय से पहले फलों का गिरना: फल मक्खियों के कारण फल समय से पहले गिर सकते हैं। लार्वा के कारण होने वाली क्षति फल को कमजोर कर सकती है, जिससे यह पूरी तरह से पकने से पहले पेड़ से गिर सकता है।
  • उपज एवं गुणवत्ता में कमी: फल मक्खियों के कारण आम के फलों की उपज एवं गुणवत्ता में कमी आ सकती है। जिससे किसानों को आर्थिक नुकसान का सामना करना पड़ सकता है।

आम के पौधों में फल मक्खी पर नियंत्रण के तरीके | Methods to control fruit fly in mango

  • बुरी तरह प्रभावित पौधों की शाखाओं या अन्य हिस्सों को तोड़ कर अलग करें।
  • गर्मी के मौसम में आम के बाग में गहरी जुताई करें।
  • पौधों के आसपास खुदाई करें, इससे मिट्टी में मौजूद प्यूपा कीट नष्ट हो सकते हैं।
  • आम के बाग में फल मक्खी ट्रैप का प्रयोग करें।
  • प्रति एकड़ खेत में 4-6 स्टिकी ट्रैप लगाने से भी इस कीट पर नियंत्रण किया जा सकता है।

आम के पौधों में फल मक्खी पर नियंत्रण के लिए जैविक एवं रासायनिक विधि | Chemical method to control fruit fly in mango

फल मक्खी का जैविक नियंत्रण

  • प्रति लीटर पानी में 1.5-3 मिलीलीटर नीम का तेल (आईएफसी नीम 10000, उगाऊ निम ऑइल) मिला कर प्रभावित हिस्सों पर छिड़काव करें।

फल मक्खी का रासायनिक नियंत्रण

  • प्रति एकड़ खेत में 300 मिलीलीटर सायनट्रानिलिप्रोल 10.26 % ओडी (बेनेविया) का प्रयोग करें।
  • प्रति एकड़ खेत में 50-80 मिलीलीटर थियामेथोक्सम 12.6 + लैम्ब्डा साइहलोथ्रिन 9.5%  जेडसी (देहात एंटोकिल) का प्रयोग करें।
  • प्रति एकड़ खेत में 100-125 मिलीलीटर फ्लुबेंडियामाइड 8.33 % + डेल्टामेथ्रिन 5.56 % w/w एससी (बायर फेनोस क्विक) का प्रयोग करें।

कीटनाशक दवाओं के छिड़काव के समय रखें इन बातों का ध्यान | Keep these things in mind while spraying pesticides

  • लेबल पढ़ें: उपयोग करने से पहले हमेशा कीटनाशक के लेबल को पढ़ें। लेबल में उत्पाद के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी होती है, जिसमें अनुशंसित खुराक, आवेदन विधि और सुरक्षा सावधानियां शामिल हैं।
  • सुरक्षात्मक कपड़े पहनें: कीटनाशक के सीधे संपर्क से बचने के लिए दस्ताने, लंबी बाजू की शर्ट और पैंट सहित सुरक्षात्मक कपड़े पहनें। यदि आवश्यक हो तो चश्मे और मास्क का उपयोग करें।
  • सही उपकरण चुनें: स्प्रेयर, नोजल और पंप सहित नौकरी के लिए सही उपकरण का उपयोग करें। सुनिश्चित करें कि उपकरण साफ और अच्छी काम करने की स्थिति में है।
  • कीटनाशक को सही ढंग से मिलाएं: कीटनाशक को लेबल पर दिए निर्देशों के अनुसार मिलाएं। पानी की अनुशंसित मात्रा का उपयोग करें और अनुशंसित मिश्रण क्रम का पालन करें।
  • सही समय पर इस्तेमाल करें: कीटनाशक का इस्तेमाल सही समय पर करें। हवा या वर्षा की स्थिति के दौरान छिड़काव से बचें।
  • सुरक्षा सावधानियों का पालन करें: लेबल पर अनुशंसित सभी सुरक्षा सावधानियों का पालन करें। रासायनिक कीटनाशकों के संपर्क में आने पर प्राथमिक चिकित्सा के लिए नजदीकी डॉक्टर से संपर्क करें।
  • कीटनाशक का रख-रखाव: कीटनाशकों को बच्चों और पशुओं से दूर ठंडे, सूखे और सुरक्षित स्थान पर रखें।
  • रिकॉर्ड रखें: कीटनाशक के उपयोग का रिकॉर्ड रखें, जिसमें उपयोग की तारीख, समय और मात्रा शामिल है। यह आपको कीटनाशक की प्रभावशीलता को ट्रैक करने और अति प्रयोग से बचाने में मदद कर सकता है।
  • अतिरिक्त कीटनाशक का ठीक से निपटान करें: अतिरिक्त कीटनाशक और खाली कंटेनरों का ठीक से निपटान करें। उन्हें नाली में न डालें या कूड़ेदान में न फेंके।

आम के पौधों को फल मक्खी से बचने के लिए आप क्या तरीका अपनाते हैं? अपने जवाब एवं अनुभव हमें कमेंट के माध्यम से बताएं। इस तरह की अधिक जानकारियों के लिए 'किसान डॉक्टर' चैनल को तुरंत फॉलो करें। इसके साथ ही इस पोस्ट को लाइक एवं कमेंट करना न भूलें।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न | Frequently Asked Questions (FAQs)

Q: फल मक्खी का जीवनकाल कितना होता है?

A: फल मक्खी का जीवनकाल प्रजातियों, तापमान और अन्य पर्यावरणीय कारकों के आधार पर भिन्न होता है। आम तौर पर, एक फल मक्खी का जीवनकाल 8 से 10 दिनों तक होता है, लेकिन कुछ मामलों में यह 50 दिनों तक बढ़ सकता है। मादा फल मक्खी अपने जीवनकाल में 500 अंडे दे सकती है, जो 24-30 घंटों के भीतर लार्वा में बदल जाते हैं।

Q: फल मक्खी पर नियंत्रण का उपाय क्या है?

A: फल मक्खी पर नियंत्रण के कई तरीके हैं। हम बाजार में उपलब्ध रासायनिक दवाओं का प्रयोग करके इस कीट से निजात पा सकते हैं। इसके अलावा हम फेरोमोन ट्रैप, फल मक्खी ट्रैप, स्टिकी ट्रैप, खेत की गहरी जुताई, के द्वारा भी इस कीट पर नियंत्रण कर सकते हैं।

Q: फल मक्खियों से छुटकारा पाने में कितना समय लगता है?

A: फल मक्खियों पर नियंत्रण करने में लगने वाला समय कीट के संक्रमण की गंभीरता और नियंत्रण के लिए उपयोग किए गए उपायों पर निर्भर करता है। सामान्य तौर पर, किसी क्षेत्र से फल मक्खियों को पूरी तरह से खत्म करने में कुछ दिनों से लेकर कुछ हफ्तों तक का समय लग सकता है।

44 Likes
Like
Comment
Share
फसल चिकित्सक से मुफ़्त सलाह पाएँ

फसल चिकित्सक से मुफ़्त सलाह पाएँ