पोस्ट विवरण
सुने
कीट
देसी जुगाड़
27 Dec
Follow

वर्टिसिलियम लेकानी से लगाएं रस चूसक कीटों पर लगाम

वर्टिसिलियम लेकानी से लगाएं रस चूसक कीटों पर लगाम

वर्टिसिलियम लेकानी प्राकृतिक रूप से होने वाली एंटोमोपैथोजेनिक कवक वर्टिसिलियम लेकानी के चयनित तनाव पर आधारित जैविक कीटनाशक है जो थ्रिप्स, जैसिड, एफिड्स, सफेद मक्खियों जैसे रस चूसक कीटों को मारने में सक्षम है। यह एक विशेष प्रकार का जीवाणु है जो विभिन्न प्रकार के जलवायु के प्रति सहनशील है। यह जीवाणु अत्यंत कठिन परिस्थितियों, जैसे कि उच्च स्तर की रेडियेशन और उच्च तापमान, में भी अपनी जीवित रहने की क्षमता रखता है। इसका उपयोग कपास, सब्जियां, फल, गन्ना, अनाज, दालों और नर्सरी में किया जाता है। इसके अलावा इसकी अनूठी सुरक्षा क्षमताओं के कारण, इसका अध्ययन विज्ञानी और अंतरिक्ष अनुसंधान में भी महत्वपूर्ण है।

वर्टिसिलियम लेकानी से रस चूसक कीटों पर कैसे नियंत्रण किया जा सकता है?

  • वर्टिसिलियम लेकानी एक जीवाणु है जो कीड़ों को मारने में सहायक है।
  • इसके बीजाणु छल्ली के संपर्क में होते हैं और कवक एंजाइम्स के माध्यम से छल्ली में प्रवेश करते हैं।
  • फिर ये अंकुरित बीजाणुओं से ऊतक उत्पन्न करके कीड़ों को संक्रमित करता है।
  • यह कवक कीड़ों के अंग में प्रवेश करता है और उनकी सारी ऊतकों को नष्ट कर देता है, जिससे कीड़े मर जाते हैं।
  • इसके बाद ये एक तरह के विष का उत्पादन करता है, जिससे 4-6 दिनों में कीड़े मर जाते हैं।

फसलों में वर्टिसिलियम लेकानी प्रयोग करने के फायदे

  • प्रभावी रूप से कीट को नियंत्रित करता है।
  • फसल की उपज में वृद्धि होती है।
  • मिट्टी के स्वास्थ्य को सुधारने में सहायक है।
  • यह प्राकृतिक रूप से सुरक्षित है।
  • यह कीटनाशकों की आवश्यकता को कम करने में कारगर है।

वर्टिसिलियम लेकानी का कैसे करें इस्तेमाल?

  • फोलियर स्प्रे: 1 लीटर पानी में 10 ग्राम वर्टिसिलियम लेकानी पाउडर मिलाएं। पानी में अच्छी तरह मिलाने के बाद पत्तियों एवं पौधों पर छिड़काव करें।
  • मिट्टी में मिला कर: 10-15 किलोग्राम खाद या खेत की मिट्टी में 100 ग्राम वर्टिसिलियम लेकानी पाउडर मिलाएं। चूसने वाले कीड़ों को नियंत्रित करने के लिए क्षेत्र की मिट्टी पर समान रूप से लागू करें।

क्या आपने फसलों में कभी वर्टिसिलियम लेकानी का प्रयोग किया है? अपने जवाब हमें कमेंट के माध्यम से बताएं। इस तरह की अधिक जानकारियों के लिए 'देसी जुगाड़' चैनल को तुरंत फॉलो करें। इसके साथ ही इस पोस्ट को लाइक और शेयर करना न भूलें।

28 Likes
Like
Comment
Share
फसल चिकित्सक से मुफ़्त सलाह पाएँ

फसल चिकित्सक से मुफ़्त सलाह पाएँ